गुरु के जीवन को आगे रखकर अपना जीवन जिएं

गुरु के जीवन को आगे रखकर अपना जीवन जिएं

गुरु जी ने बताया कि

🌵तू अपने घर मे जरूर आजा खुदी के बदले खुदा को पाजा ,,,मतलब गुरु जी कहते है कि,,,जब हम अपने भीतर आ जाते है तो अपने अहम को भूलकर अंदर बैठे परमात्मा को पा लेते है,,,,,,,,,,,,।

🌵खुदको सिर्फ परमात्मा का बनाया हुआ यूजफुल हैंडल ही समझे,,,,,,,,,,,,,।

🌵कठपुतली का नृत्य तो बड़ी खुशी से देखते है,,,हमारे जीवन की डोर भी प्रभु के हाथ मे है,,जब वो नचाता है तो क्यों दुखी होते हो,,,,,,,,,,,,।

🌵हर बात के लिए साक्षी बने हम सिर्फ निमित है,हम खुद कुछ नही कर सकते,,,,,,,,,,,,,,,।

🌵एक्सीडेंट होता है ड्राइवर को पकड़ा जाता है,,,ऐसे ही खुदको अकर्ता मानेंगे तो नफा नुकशान मालिक का ,,हम फ्री रहेंगे,,,,,,,,,,,,।

🌵जब खुद को सिर्फ निमित मानेंगे तो कर्ता भाव से बच जाएंगे,,,,,,,,,,,,।

🌵गूगल सारे प्रश्न के उत्तर देता है,,,तो गूगल को भी तो कोई चला रहा है,,,,ऐसे ही हम जो भी करते है परमात्मा की शक्ति से करते है,,,,,,,,,,,,।

परमात्मा

🌵गुरु के जीवन को आगे रखकर अपना जीवन जिएं,,,,,,,,,,,।

🌵शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,,,,,,,,।

293 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap