ऐसी श्रृद्धा गुरु में रखो, की जो गुरु देता जा रहा है वो लेते जाओ तो टिमटार हो जाओगे

Guru vaani

सब हालाते passing shower की तरह है। वो तुम्हे चमका के जाएंगी। हालातो से घबरा नहीं जाना है। कोई हालात आए, कोई गाली दे, और तुम्हे ना लगे तो समझना तुमने ज्ञान समझना शुरू किया है। जो जागा है, उसके लिए गुरु के वचन हीरे मोती जैसे है। तुम कैसे वचनों से पल्ला झाड़ देते … Read more ऐसी श्रृद्धा गुरु में रखो, की जो गुरु देता जा रहा है वो लेते जाओ तो टिमटार हो जाओगे

स्वयंम को प्रेम से भर लीजिए,, संयमित बना लीजिए Guru ji vaani

गुरु जी ने बताया कि 🌼महापुरुषों की जयंती मनाते है, इनके जीवन से प्रेरणा लेते है,,,,,,,,,,,,,,,। 🌼गांधीजी शरीर से बिल्कुल कमजोर थे लेकिन मन से बलवान थे,,,,,,,,,,,,,। 🌼कोई भी कार्य करना है तो सामने कमजोर व्यक्ति को रखें तो अपनी शक्ति का पता चलेगा,,,,,,,,,,,,,,। 🌼अपने कार्य की चेकिंग करें हम जो कार्य कर रहें है,, … Read more स्वयंम को प्रेम से भर लीजिए,, संयमित बना लीजिए Guru ji vaani

Guru ji vaani कोई हमेशा गलत नही हो सकता

गलत धारणा

गुरु जी ने बताया कि 🌹पूछा श्राद्ध क्या है,,,,,,तो बताया कि जो चले गए है संसार से उनको श्रद्धा से याद करना ,,श्राद्ध है । 🌹किसी के लिए भी गलत धारणा बनाकर ना बैठे ,,,कोई हमेशा गलत नही हो सकता । 🌹ज्ञान हमे नकारात्मकता से सकारात्मकता में जीना सिखाता है । 🌹गॉड मे फोरगिव अस … Read more Guru ji vaani कोई हमेशा गलत नही हो सकता

गुरु ऐसी चाबी दे देता है जिस से ये सारे काल्पनिक बंधन तोड़ देता है

गुरु ऐसी चाबी दे देता है जिस से ये सारे काल्पनिक बंधन तोड़ देता है

सच्चा गुरु किसीको झुकाता नहीं है। तो तुम क्यों दूसरो को जुकाता है? तुम सबके सामने मन को झुकाओ। तुम बाहर से झुकता है पर अंदर में गालियां देता है। Morality is Hypocrisy. ये तुम पाखंड करते हो। प्रेम सबसे करो। सेवा सबकी करो पर कभी भी शिकायत नहीं करना की मेरी सेवा तुमने क्यों … Read more गुरु ऐसी चाबी दे देता है जिस से ये सारे काल्पनिक बंधन तोड़ देता है

निंदा करने से हमारे पुण्य खत्म होते जाते है

निंदा करने से हमारे

गुरु जी ने बताया कि 🌵दवाई और खाना खाने के बाद हजम होना जरूरी होता है,,,, ऐसे ही ज्ञान भी सुन ने के बाद हजम होना जरूरी होता है,,कैसे तो बताया कि कहत, सुनत, रहत गत पावे । 🌵किसी की भी निंदा करना मतलब मांस खाना । 🌵जिसकी भी निंदा करते है उसके बुरे कर्म … Read more निंदा करने से हमारे पुण्य खत्म होते जाते है