बुरी बातें या जो बातें तकलीफ दे उनको भूल जाओ

बुरी बातें या जो बातें तकलीफ दे उनको भूल जाओ

गुरु जी ने बताया कि, बुरी बातें या जो बातें तकलीफ दे उनको भूल जाओ ,क्योंकि वो हमें कमजोर बनाती है ।

🌴एक राजा ने एक दिन एक जमादार को सोने का थाल दिया कि इसको बेचकर वो कुछ काम शुरू कर सकता है

दूसरे दिन राजा ने देखा कि वो जमादार उसी सोने के थाल में कचरा उठाने लगा,

राजा को दुख हुआ,,ऐसे ही परमात्मा ने हमे ये सोने के थाल बराबर सुंदर शरीर दिया है हम उसमे कितने विकार भर रहे है, अपने जीवन को व्यर्थ गवा रहें है ।

🌴धरती पेड़ो का बोझ ,कचरा ,कूड़ा, मल मूत्र, अपने ऊपर सहकर भी खिल खिलाती रहती है, हम क्यों नही हस सकते ,,?।

🌴सूरज और चाँद लुका छुपी खेलते रहते है, आते है जाते है, फिर भी मुस्कुराते रहते है, हम क्यों नही मुस्कुराते ? ।

🌴बिजली बादलो के साथ नाचती रहती है,,,हम अपने जीवन मे नृत्य नही कर सकते, ? ।

🌴जंगल मे चिड़िया उड़ती रहती है, झरने ,लहराते रहते है,,,,हम क्यों नही लहराते,? ।

🌴मोह करेंगे मोहताज हो जाएंगे,

प्रेम करेंगे परमात्मा को पाएंगे ।

🌴बुरी बातें या जो बातें तकलीफ दे उनको भूल जाओ ,क्योंकि वो हमें कमजोर बनाती है ।

🌴तनाव त का मतलब (तन को ) छोड़कर गुरु की नाव मे आ जाएंगे तो तनाव दूर हो जाएगा ।

🌴शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ ।

गुरु जी ने बताया कि

🌹जब हम सामने वाले को भगवान करके देखते है तो उस वक़्त हम भी भगवान का रूप बन जाते है ।

🌹कृष्ण भगवान ने कुरुक्षेत्र को धर्मक्षेत्र बना दिया ऐसे ही हमे भी अपने मन रूपी कुरुक्षेत्र को धर्मक्षेत्र बना ना है ।

🌹शरीर है हमारा घोड़ा ,,हम है घोड़ेस्वार ।

🌹गुरु द्वारे में घोडेस्वार जाता है,,,घोड़ा थोड़ी अंदर जाता है,ऐसे ही हमे भी ये शरीर रूपी घोड़े को छोड़कर अपने

मन रूपी आत्मा में टिकना है ।

🌹हमसे सहज में कोई काम हो जाएं तो करें नही तो शांत होकर बैठे, क्रोध ना करें ।

🌹किसी और से कोई अपेक्षा ना रखें क्योंकि ज्ञान हमने सुना है दुसरो ने नहीं ।

🌹अगर हमारे अंदर कोई अच्छाई किसी को दिखाई दे रही है ,तो समझ लो ये परमात्मा की शक्ति की बदौलत है ।

🌹आश्रम मतलब आओ श्रम करें मन से प्रभु पाने के लिए ।

🌹शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ ।

293 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap