गुरु ज्ञान

अपने पास हर समय गुरु ज्ञान के वचनों का पिटारा रखो ।

🌷प्रेम लेने से देने में ज्यादा बढ़ता है,,,,क्योंकि देने में ही लेना छुपा हुआ है ।

🌷नींद से जागने के बाद मुंह धोते है ना,

तो अज्ञान की नींद से जागने के बाद ज्ञान की गंगा में नहाना भी तो है, क्योंकि अज्ञान की नींद भी तो बरसो की है ।

🌷क्रोध एक ऐसी अग्नि है पहले खुद को बाद में दुसरो को जलाती है ।

🌷खुद से कोई गलती होती है तो खुद को माफ करते है ना ,

फिर दुसरो से जब गलती हो तो उनको भी माफ करना सीखें ।

🌷स्वयंम को गलत बातों से , छल कपट से बचाना सबसे पहला निष्काम है ।

Hari om

🌷अपने पास हर समय गुरु ज्ञान के वचनों का पिटारा रखो ।

🌷कोई भी सवाल करें तो उसको आत्मिक रूप मानकर उत्तर दे नही तो जन्म मरण का चक्कर तैयार हो जाएगा ।

🌷कोई भी वचन पहले अनुभव में लाना है बाद में सुनाना है, तभी सामने वाले के जीवन मे वो वचन लग पायेगा ।

🌷हर वचन पहले खुद पर अप्लाई करना है फिर दुसरो पर सप्लाय करना है ।

🌷शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ ।

217 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap