guru vaani 10 march

Guru vaani 10 March 2019

गुरु जी ने बताया कि,,,,,,,
🍁बीज मीट ता है तभी वृक्ष बनता है,,,और वृक्ष बन ने के बाद वापस वो बीज नही बन सकता,,,,ऐसे ही गुरु जी कहते है कि हम भी ब्रह्मभाव में टिक जाएंगे फिर जीव भाव मे नही आ सकते,,ब्रह्मभाव में टिकने के लिए अपनी” मैं “को मिटाना होगा,,,,,,,।


🍁कृष्ण भगवान को जितनी भी बार यशोदा मैया बांधती थी रस्सी छोटी पड़ जाती थी,,फिर जब मैया प्रेम वस बैठ जाती थी,तो भगवान उनकी गोद मे जाकर बैठ जाते थे,,,ऐसे ही गुरु जी कहते है कि हम भी किसी को भी जबदस्ती बाँध नही सकते,,,सबसे मीठा प्रेम का बंधन,,,,,।


🍁पूछा सुखी कैसे होंगे,,तो बताया स्वर्ग,नरक दोनों की सोच से ऊपर जब हो जाएंगे तब सुखी हो जाएंगे,,,,,,,।


🍁लक्ष्मी माता को कमल का फूल चढ़ता है क्योंकि ,,वो कीचड़ में रहकर निर्लेप न्यारा होता है,,,जैसे जैसे कीचड़ बढ़ती है,कमल और ऊपर होता जाता है,,,,,गुरु हमे भी हर विपरीत परिस्थिति से ऊपर उठाते है,,,,,,।


🍁नाव पानी मे रहें अच्छा,,लेकिन पानी नाव में नही आना चाहिए,वरना नाव डूब सकती है,,ऐसे ही हम संसार मे रहें अच्छी बात ,संसार हमारे अंदर नही आना चाहिए,,,,,,।
🍁जिसने भी सच्ची राह दिखाई उसको कभी मत छोड़ना,,,,,,,।


🍁कुछ भी न समझ आएं तो हरि चर्चा में लग जाओ,,, जिस से हर बात से बच जाओगे,,,,,,,।
🍁शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,।

guru vaani 10 march
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap