Guru vaani 10 Sept 2019

Guru vaani 10 Sept 2019

गुरु जी ने बताया कि,,,,,,,,,,

🌷आज के युग का तप क्या है,,,,,,,तपते दिलो को शांत करना,,,,,,,,,,।

🌷अपनी चेतना ,अपने मूल से जुड़ जाओ,,,,चेतना ये है कि मैं आत्मा हु,मूल ये है कि हम प्रभु से आये है प्रभु में जाना है,,,,,,,,,,।

🌷अपने स्वयंम के सेवक खुद बने,मतलब खुद के कार्य खुद करें,दुसरो पर आश्रित न रहें,,,,,,,,,।

🌷भगवान की भक्ति से कोई नुकसान नही होता बल्कि हम जो प्रभु आए कर्ज़ लिए है उनसे मुक्ति मिलती है,,,,,,,,,,।

🌷मन है एक वृक्ष ,बहुत सारे वृक्ष होंगे तो ” वन” बन जायेगा,ऐसे ही अकेला मन कुव्ह नही करता उसमे जो विचार आते जाते है वो दिक्कत खड़ी करते है,,,,,,,,,।

🌷मन है विचार तो आएंगे ही,बस विचार टिकने ना पाएं,,,,,,,,।

🌷भगवान ने मन को नौकर बनाने को कहा था,हम मन के नौकर बन जाते है,,,,,,,,,,,।

🌷मन है बंदर ,,,तो ,बंदर को नचाने वाले बनिये,खुद बंदर के साथ मत नाचिए,,,,,,,,।

🌷शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,,,।

Guru vaani 10 Sept 2019

🌷Aaj ke yug ka Tap kya hai,,,,,,Tapte dilo ko shant karna,,,,,,,,,,,,

🌷Apni chetna ,apne mul se jud jao,,,,chetna ye hai ki mai aatma hu,mul ye hai ki hum Prabhu se aaye hai Prabhu me jana hai,,,,,,,,,

🌷Apne swayam ke sevak khud bane,matlab khud ke karya khud karen ,dusro par aashrit na rahen,,,,,,,,,,,,

🌷Bhagwan ki bhakti se koi nukshan nahi hota balki hum jo prabhu se karz liye hai unse mukti milti hai,,,,,,,,,,

🌷Mann hai ek vriksh ,bahut sare vriksh honge tto “van” ban jayega,aise hi akela mann kuch nahi karta usme jo vichar aate jate hai wo dikkat khadi karte hai,,,,,,,,

🌷Mann hai,vichar tto aayenge hi bas vichar tikne na payen,,,,,,,,,

🌷Bhagwan ne mann ko naukar banane ko kaha tha,hum mann ke naukar ban jate hai,,,,,,,,,,, and

🌷Mann hai bandar,,,,,,tto ,bandar ko nachane wale baniye,khud bandar ke sath mat nachiye,,,,,,,,,,

🌷Shukrane Satguru ji ke Hari om,,,,,,,,,,,

398 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap