vaani 12 April

Guru vaani 12 April 2019

🌹 खुशी हमारे अंदर ही मौजूद हैं और हम बाहर ढूंढ रहे थे कि गुरु ने हमको सही raasta dikha kur moh maya से हटा दिया है.

राम नाम दर्शन गुरु दर पर पाया. गुरु हमको झुकना सिखाता है हर जगह तुमको ही मुड़ना और झुकना है क्योंकि सत्संग तो तुम सुनते हैं और कोई घर वाले तो सत्संग नहीं आते हैं.

pramila ji

तुम बहुत सयाने बन जाते हैं तभी चोट खाते हैं और ahankar aa जाता है गुरु कहते हैं कि तुम अपने को गँवा दो और एकदम सहज और सरल हो जाओ तो भगवान भी मिल जाएगा.

शेर के अंदर इतनी ताकत होती है कि वह हाथी, और गैंडा जैसे बड़े मजबूत जानवार को भी हरा देता है इसी तरह तुम्हारे अंदर बहुत शक्ति है और अपने सभी विकारों को दूर कर सकते हैं लेकिन यह सब कुछ बिना गुरु की कृपा के नहीं हो सकता है

🌷 इसीलिए हमेशा जीवन में गुरु की महिमा बहुत जरूरी है और उसी के कहने पर तुम भव सागर से बेड़ा पार कर सकते हैं.

Hindi stories

पांचों रस विषय रस जहर के समान है, लेकिन गुरू हमको सबसे दूर हटा देता है. जब हमारे कोई dost गुरु के पास ले आता है तो हमारा मन शांत हो जाता है.

इस राह पर आगे बढ़ रहे हैं तो अपना पुरुषार्थ भी करना चाहिए ताकि ईश्वर की भक्ति मिलती रहे.

धीरे धीरे तुम कदम गुरु के आदेश के अनुसार बढ़ाते चलो तो एक दिन तुम भी इस जगत के दुखों से आगे निकल जाओगे. राजा जनक, मीरा जी,
ध्रुव, प्रहलाद सभी को बहुत मेहनत करनी पड़ी थी तब तक वह लोग देह अध्यास से अलग नहीं हो पाए थे.


जरा सी भी असावधानी से दुर्घटना हो सकती है तुमको तुम्हारे मन, संबंधी और देवता यह तीन लोग इस राह में बाधा डाल देते हैं और तुमलोग माया में आगे बढ़ जाते हैं और गुरु की बातों को भुला देते हैं.

🎼 🎤🎼भजन 🎤🎼🎼


🌷 Baby Aunty 🌷 🌷 –


Yeh मन इतना शैतान है कि वह गुरु की बात को काट देता है और गुरु आकार हमारी वृत्तियों को sanyam कर देता है.

ग्यान से सबको बहुत फायदे हुए हैं. गुरु ने इस ग्यान को हम लोगों को सरल करके दे दिया है. गुरु ने हमको सभी त्योहारों को मनाने के लिए खुशी से भरपूर कर दिया है.

बिना आत्म ग्यान के मन का कोई भी म्मत्व नहीं जाएगा. जैसे घर में रोज़ सफाई करते हैं उसी तरह मन की गन्दगी की भी सफाई के लिए रोज़ हमको गुरु का संग भी करना चाहिए तभी हमारा उद्धार होगा. तुम अच्छा संकल्प करोगे तो हमेशा सही बात होजायेगी.

यहाँ पर हमलोग साधना और तप के लिए आए हैं तो कम से कम बोलो और मनन ज्यादा करोगे तो तुम्हारी शक्तियाँ भी कम नहीं होंगी बल्कि और बढ़ेगी.

इसी तरह राधा जी ने भी इतनी बड़ी तपस्या किया कि उनको भी भगवान ने सबसे ज्यादा प्यार किया.

गुरु के पास आकर अंत तक हमको नम्रता भाव से ही रहना चाहिए. गीता भगवान को आठ दिन के अंदर ही सब कुछ ग्यान मिल गया था और सबको बहुत अच्छा ग्यान सुनाते थे.


वो बचपन में आठ साल की उम्र में ही बहुत शांत और विनम्र थे और पूरे जीवन में उन्होने सबसे खूब प्यार ही किया था.

उनके अंदर अपने गुरु के लिए बहुत श्रद्धा और विश्वास था.


💞 पहले गुरु sabki बहुत ख्याल रखते थे और कम लोग रहते थे तो हरएक प्रेमी को ज्यादा से ज्यादा समय देकर उनका जीवन स्तर ऊंचा उठा दिया है और अब वह सब को बहुत प्यार करते हैं

और सभी premi का जीवन बदल दिया है.

ऐसा गुरु अवतार जो हम लोग को मिला है तो उसका पूरा फायदा उठा सकते हैं अगला जन्म कब कहाँ होगा उसका कोई भरोसा नहीं है, इसी जन्म में मुक्ति पाना है. इस बुद्धि को धर्म के कार्य में लगा दो तो वह इधर उधर नहीं भटकेगी.

149 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap