Guru vaani 14 July 2019

Guru vaani 14 July 2019

गुरु जी ने बताया कि

🌻गाँधी जी की गठरी में हमेशा “गीता” की पुस्तक रहती थी,,,ऐसे ही गुरु जी कहते है कि अपने पास गुरु के

वचनों को रखे ,,,,,,,,,।

🌻गाँधी जी ने अपनी जेल यात्रा को तीर्थ यात्रा बना लिया था,,,,हम गुरु राह में दो शब्द भी सुन नही सकते क्या,,,,?,,,,,

🌻गाँधी जी दुबले पतले थे,फिर भी अंग्रेजो को भगा दिया,,,क्योंकि गाँधी जी ने अपनी लड़ाई धर्म सहित की,

हम भी अपने सत्य पर टिके रहंगे तो कोई भी विचार हमे परेशान नही कर सकता,,,,,,,,,।
🌻ज्ञान की राह में कोई विपरीत बोलता है तो गुरु जी कहते है कि वो ऐसा कहेंगे ही,,क्योंकि युद्ध के बिना

शांति का अहसास कैसे होगा,,?,,,,,
🌻जगत के कामो के लिए कितनी महेनत करते हो,,,,,,प्रभु पाने के लिए कोई उधम किया,,?,,,,,,,

🌻घरवाले ये जरूर कहेंगे कि शादी में जाओ,,, दुकान पर जाओ,,, माया में जाओ,,,,, ऑफिस जाओ

रोज,,,,लेकिन कभी ये नही कहेंगे कि रोज सत्संग जाओ,,,,ये उधम हमे खुद ही करना होगा,,,,,,,।
🌻ज्ञानी का जीवन संयमित होता है,,,,,,,,।

🌻संसार मे कोई सुधरे ना सुधरे हम सुधर जाएं,,,,,,,,,,।

🌻शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,,,,।

Guru vaani 14 July 2019

🌻Gandhiji ki gathri me hamesha “Geeta” ki pustak rahti thi,,,,,,aise hi Guru

ji kahte hai ki apne paas Guru ke wachno ko rakhen,,,,,,,,,

🌻Gandhi ji ne apni jail yatra ko teerth yatra bana liya tha,,,,,,,,,hum Guru

raah me do shabd bhi sun nahi sakte kya,,,,,?,,,,,,

🌻Gandhi ji duble patle the,,,phir bhi angrejo ko bhaga diya,,,kyuki

Gandhiji ne apni ladai dharm sahit ki,,,,,hum bhi apne satya par teeke

rahenge tto koi bhi vichar hume pareshan nahi kar sakta,,,,,,,,,

🌻Gyaan ki raah me koi viprit bolta hai tto hmara mann kahta hai aisa kyu

bolte hai,,,,tto Guru ji kahte hai wo aisa kahenge hi,,,,kyuki yudhh ke bina

shanti ka ahesas kaise hoga,,?,,,,,

🌻Jagat ke kamo ke liye kitni mahenat karte hai,,,,prabhu pane ke liye koi udhham kiya ?,,,,,,,,

🌻Gharwale ye jarur kahenge ki shadi me jao,dukaan par jao,,,,maya me

jao,,,,,office jao roj,,,,lekin kabhi ye nahi kahenge ki roj satsang jao,,,,,ye

udhham hume khud hi karna hoga,,,,,,,,,,

🌻Gyaani ka jeevan sayamit hota hai,,,,,,,

🌻Sansaar me koi sudhre na sudhre bas hum khud sudhar jayen,,,,,,,,,,,,

🌻Shukrane Satguru ji ke Hari om,,,…..

141 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap