Guru vaani 15 June 2019

Guru vaani 15 June 2019

निगुरे का कोई ठिकाना नहीं होता..प्यार को संजो कर रखो केवल गुरु के लिए..

तेल घारा सा केवल मेरे में मन हो..भगवान ने बोला..

गाँव मे नहर से नली में पानी डालते हैं..उस नली से पानी पेड़ो में पहुँचता है..

पर अगर नली बीच में से कट जाए..तो पानी बेकार हो जाता है..

ऐसे ही दुनियां के चक्कर मे हमारा प्यार बेकार हो जाता है..

बच्चा माँ के पुरा समर्पित होता है..तो माँ भी उसका पुरा ख्याल रखती है..

बच्चा भी पहले माँ से ही जुड़ता है..पर बड़ा हो जाता है..शादी हो जाती है..

तो माँ की परवाह नहीं होती है..

से होती है कृतघ्नता..पर फिर भी अगर मां से निभाता है तो माँ से दिल से दुआएं निकलती हैं..

पर कोई माँ के अनुसार चलता है तो लोग कहते है लड़का तो ठीक है पर माँ के अनुसार चलता है.

तो इसमें बुरा क्या है..जिसने पैदा किया पाला उसके अनुसार चले तो क्या बुराई है..

ऐसे ही पहले गुरु के अनुसार चलते हैं फिर ज्ञान समझ आता है तो अपने मन के अनुसार चलते हैं..गुरु से दुर हो जाते हैं..

जो लगातार परमात्मा का साथ करता है उसका जीवन बन जाता है..

तो हमें हमेशा गुरु के अनुसार चलना है..अपने मन की नही चलनी है..

गुरु बोलता है..साफ दिल बनो चालाक नहीं बनो..ज्ञानी का जीवन खुली किताब है..गुरु बन कर मत बैठ जाना..

वाणी अद्वैत की बोलते हैं..पर मन द्वैत में पड़ा है. ऐसा गुरु होगा जिसका तो उसकी उन्नति कैसे होगी..गुरु को समर्पण हो..

हमारा काम है सबको गुरु ले जोड़ना..हम बीच से अलग हो जाए..मैं कुछ नहीं हुँ ऐसा भाव रखें..है ही भगवान..

हमारा अंदर वाला गुरु को भगवान कहता है..क्योंकि उसने भगवान का पता बताया..गुरु ले यहीं प्रार्थना हो की..

गुण ,ज्ञान ,घ्यान हर लो मेरा..में प्रेम नगर का वासी हुँ..अभिमान मन हर लो मेरा..

गुरु के बच्चे हो..तो गुरु जैसे ही बनोगे..पर गुरु जैसा बनने में बहुत बाघायें आती है..

भक्त क ते हैं कि भगवान मेरी अंत तक निभ जाए..यानि में जीवन तुम्हें कभी छोड़ ना सकुँ..

Guru vaani 15 June 2019

लहर सागर से उत्पन्न है पर सागर नहीं है..ये अंतर हमेशा होना चाहिए गुरु से..

पुञ भले चार हो जाए पर पिता को एक ही रहेगा..हम हमेशा परमात्मा से जुड़े रहे..

🌷राजा ने एक सिंक आँगन में लगा दिया..बोला जो इसको खाली कर देगा उससे अपनी पुञी का विवाह कर दुँगा..

कोई खाली नहीं कर पाया..तो एक लड़के ने सोचा कुछ युक्ति है इसमे..

तो उसने उस सिंक का कनेक्शन काट दिया सागर से..

तो तुम्हारा भी कनेक्शन परमात्मा से जुड़ा रहेगा तो भरपुर रहोगे..

तीन का फंसाते हैं..कामिनी, कंचन ,कीर्ति,पर से तीन छुट जाते हैं तीन ‘ स ‘ से..सेवा, सुमिरन, सतसंग,से..

🌷एक गया गुरु के पास..बोला गुरु बनना आसान है..या शिष्य बनना..बोला गुरु बनना आसान है..कुछ रैसेट भजन ले लो ..

बोलना सीख लो..श्लोक बोल लो..बस सतसंग कर लो..पर शिष्य बनने के लिए सेवा ,सुमिरन, सतसंग ,करना पड़ेगा.

.मरना मिटना पड़ेगा..बोला फिर तो मुझे गुरु ही बना दो..तो मन मुड़ना नहीं चाहता..

गुरु बनना चाहता है..तुम सोचो कि तुम अगर बोल भी रहे हो.

.तो पीछे से शक्ति किसकी है..तो उस शक्ति को कभी भी भुलोगे को बर्बाद हो जाओगे..

भगवान ले ऐसा प्रेम हो की उसके बिना रह ना पाओ..

वो दिन आखिरी दिन हो जिस दिन परमात्मा को भुल जाओ.

.कृतघ्नता का दोष कभी ना लगे..हमेशा ईश्वर के सुमिरन में रहो..

या तो पेय जे परसन या पेय जे पचार या को परमात्मा के दर्शन में रहो या उसके प्रचार में रहो..🌿🌹🌿🌹🌿🌹

Guru ji ne btaya ki,,,,,,,,,,


🍁Apne karmo ka khata band Karen,,,,ab naye karm na banayen,,,,,,,,,,


🍁Prabhu ne hume insaano wali umr,di thi 40 ,saal,,,,wo bahut khubsurat bit ti hai,,,,40, ke Baad polish utar jati hai,,,,,,,
50,Chhut jati hai aash,,,,,,
60, me bichh jati hai khaat,,,,,,
70, jindagi ho jati hai baddtar,,,,,,,
80, me mat khas matlab hil jati hai,,,,,,,


Lekin ye tab hota hai jab sirf Sansaar se Jude hote hai,,,,,,jab hum Gyaan se judd jate hai tab har pal sunhara,,,,,


🍁Budhapa matlab bura aapa,,,,,,Lekin Gyaani ke oopar kabhi budhapa nahi aata,,,,,wo har pal balak vat hota hai,,,,,,,,,,,,


🍁Kisi ki bhi kami na dekhen,,,,,kamiya dekhenge tto kam insaan ban jayenge,,,,,,,,,,


🍁Mann apna Raam bhajan me rakhen,,,,,Tann rakhen apna sabki seva me,,,,,,,,,


🍁Sadkarm,aur badkarm,dono se oopar oothkar niskaam karm Karen,,,,,jisme koi bandhan nahi hota,,,,,,,,


🍁Uttrayan matlab dehh se upraam,,,,,aur dakshinayan matlab dehh me atke huye,,,,,apni janch Karen hum kya hai,,,,,,,?,,,,,,


🍁Sirf manusya yoni hai karm karne ki baki saari yoniya fal bhogne ke liye,,,iss liye apne Jeevan ki keemat Karen,,,,,,,,


🍁 Shukrane Satguru ji ke Hari Om……..

283 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap