divine vaani satsang

Guru Vaani 15 March 2019

हर समय भगवान की रज़ा में राज़ी रहना चाहिए और कोई भी गिला या शिकवा नहीं करना चाहिए, जो भी हमको मिला है वो हमारी किस्मत में लिखा है, यदि हम परमात्मा से शिकायत करेंगे तो कभी खुशी नहीं रह पाएंगे और कोई भी शिकायत नहीं कहेंगे तो आपको हमेशा आनंद का अनुभव करेंगे और शांति मिलेगी. अशोक रहना ही हमारा धर्म है, मतलब हर परिस्थिति में शोक नहीं करना चाहिए और कोई भी हलचल नहीं करना चाहिए.


🌷 Guru हमारे अंदर धर्म की स्थापना कर देता है. इसलिए अब हमको कोई भी विपरीत परिस्थितियों में भी बैचेनी नहीं होती है और मन को शांति गुरु देता है, यह सब सत्संग आने से फायदा होता है. परमात्मा के प्रेम में आंख में आँसू आते हैं तो वो ठंडे होते हैं और जगत वालों के मोह में जो आँसू आते हैं वो गरम होते हैं. ठंडे आंसू से आँख में आराम मिलता है और गरम आंसू से आँखो में नुकसान होता है.

Tulsi mata Bhagwan vaani


🌷 किसी भी व्यक्ति की सेवा करने में उससे जो दुआ मिलेगी उसका कोई जवाब नहीं है. और किसी को गलत बोलेंगे या उसको सतएंगे तो हमको भी दुख जरुर मिलेगा, इसलिए कम से कम हमे बोलना चाहिए तब dost ज्यादा बनेंगे और यदि ज्यादा बोलेंगे तो दुश्मनी ज्यादा बढ़ेगी. माया की बात बोलेंगे तो गिरावट होगी और भगवान की या गुरु वाणी की बात सबसे बतायेंगे तो आपको लोगों से अच्छाए मिलेगी और aatmbal बढ़ेगा. किसी से कुछ भी उम्मीद मत रखो तभी मन में uljhan ज्यादा होगी. इसलिए किसी से चाहत नहीं रखना चाहिए. हम लोग भी जब तक इस गुरु की लक्ष्मण रेखा के अंदर रहेंगे हमको कोई माया नहीं घेर सकती है और गुरु के आदेश के खिलाफ कार्रवाई करेंगे तो आपको जगत की विषैली और कडवी बातें घेर लेती है.


🌷 इंसान गलती का पुतला है, लेकिन यदि वही गलती दुबारा नहीं हो तो हम इंसान से भगवान हो सकते हैं. मोटी माया सब लोग छोड़ देते हैं लेकिन छोटी माया से लोग नहीं दूर हो पाते हैं, इसलिए छोटी सी बात से भी अलग हो जाने के बाद हमको सबका प्यार और अपनापन बहुत मिलेगा. कभी कोई भी परिस्थिति aaye to हमेशा गुरु का साथ याद रखेंगे तो आपको हमेशा जीत मिलेगी.
🎼🎤BHAJAN 🎼🎤🎤

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap