Guru vaani 17 April 2019

Guru vaani 17 April 2019

Divine गुरू जी ने बताया कि,,,,,,,,,


🌷संसार की दोस्ती ठूंठ लगी साड़ी फटी,,,,,,मतलब थोड़ीसी गलत फहमी में रिस्ते खत्म,,,,और प्रभु से दोस्ती हमे प्रभु बना देती है,,,,,,,,।


🌷काग पलट गुरु हंसा कीना, मतलब अज्ञानता में हम कौवे की तरह काऊ काऊ कर रहे थे,,,,अब हंसः की तरह सबके गुण ग्रहण करने लग गए,,,,,,,,।


🌷काग सिर्फ अन्न का दाना खाता है,,,हंसः दूध को फाड़कर पनीर बनाकर खाता है,,,,,,मतलब

दूध और पानी अलग करना जानता है,,,,,गुरु भी हमे हंसः बनाते है,,,,ताकि गलत और सही का अंदाजा लगा सके,,,,,,,,

Beautiful Hindi Stories


🌷गुरु हमे ज्ञान से जीव भाव से ब्रह्म भाव मे टिका ते है,,,,,,,,,।


🌷जब तक जीव भाव है संकल्प विकल्प ,इच्छाएं चाहनाये आती रहेगी,,,,,,,,।


🌷ड्रेसीस की मैचिंग करते रहते है,कभी मन की मैचिंग सोची है ?, मन की मैचिंग है प्रभु,,,,मन को प्रभु मय बना ले,,,,,,,,,।

Geeta bhagwan


🌷पारस लोहे को सोना बनाता है,,,,,लेकिन गुरु खुद पारस है,,,,ओर हमको भी पारस बनाते है,,,,,,,,।


🌷नम्रता जीवन मे आगे बढ़ने की सीढ़ी है,,,,,,हमेशा नम्र बने रहें,,,,,,,।


🌷शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,।

More Divine गुरू vaani

330 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap