Guru vaani 20 April 2019

Guru vaani 20 April 2019

गुरु जी ने बताया,,,,,,

🌿घर के खर्चे का हिसाब रखते है ना,,,,प्रभु में 24 घंटे दिए है ,,पूरा जीवन दिया है उसका हिसाब भगवान मांगेंगे तो क्या देंगे,,,,?,,,,,


🌿सारी सृष्टि कॉलेज है जिसमे से हमे नॉलेज मिलती है,सबसे सीखते चलो,,,,,,,।

🌿मन के चाकर नही चेकर बने,मेरा मन कहाँ और क्यों जा रहा है,,,,,,।

🌿गुरु हमे पशुवत जीवन से हटाकर पहले मनुष्य बनाते है,,,फिर भगवान बनाते है,,,मतलब हमारे अंदर ही प्रभु का दीदार करवाते है,,,,,,,।

कुल जननी-बेटियाँ

🌿ज्ञान का आश्रय लेकर हम प्रभु को प्रकट कर सकते है,,,,,,,

🌿कर्मो का त्याग नही करना ,कर्मो के भाव का,, करता पने,,,,का त्याग करना है,,,,,,,

🌿रिस्तेदार मतलब रास्ते के आधार उनमे अटकना नही,,,,अपना रोल प्ले करना है बस,,,,,,

🌿बन ना ही अज्ञान है,,,कुछ भी मत बनो ,,,,,ना माँ ना बेटी,,,ना बहन ,,बस अपना कर्तव्य पूरा करो,,,,

🌿शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,।

Also Read – भारत रत्न से सम्मानित लोगों को क्या विशेषाधिकार मिलते हैं?

🌸जैसे घने बदलो के बीच मे से चाँद दिखाई देता है,,,ऐसे ही हम भी माया से घिरे हुए थे,,,गुरु ने हमे निकाला,,,,,,,।

Guru ji Ke Bhajan


🌸अब ज्ञान के बाद हमसे ऐसा कोई काम न हो जिस से हमारे गुरु को हमारे माता पिता को दुख हो,,,,,,,।


🌸अपने जीवन के संघर्ष से क्यों गभराते हो,,श्री कृष्णा भगवान 6 दिन के थे तब से संघर्ष कर रहे है,,,,,,,।

Must Read – प्रेरणादायक कथा.


🌸लव इस वन वे ट्राफिक ,,,मतलब प्रेम सिर्फ देने का नाम है जिसमे वापसी की चाहत हो वो प्रेम नही,,,,वो सौदा होता है,,,,,,,।


🌸जगत की चीजो से भले तृप्ति आ जाये ,लेकिन प्रभु प्रेम में कभी तृप्ति नही आनी चाहिए,,,,,,और पाने की चाहत हमेंशा होनी चाहिए,,,,,,,।


🌸मनुष्य चोला अनमोल है इसे व्यर्थ न गवाना,,,,,,,।

divine pramila bhagwan guru ji


🌸कुछ भी छोड़ने का मन हो तो अपना अज्ञान ,,अपना क्रोध ,अपने विकार छोड़ने का सोचे,,,,,,।


🌸संसार दुखालय था,,,,गुरु ने सुखालाय बना दिया,,,,,,,।


🌸शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,।

197 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap