holi-guru vaani

Guru vaani 20 March 2019

गुरु जी ने बताया कि,,,,,,
🌹होली का मतलब बताया माया वाले के तो हो रखे थे,अब प्रभु के हो जाएं,,,,,,।


🌹होली कई सालों से जला रहे है,,,अब गुरु ने अपने मन के विकारों को जलाना सीखा दिया,,होली में अपनी सारी बुरी बाते जला दे,,,,,,,।
🌹बाहर के रंगों से होली खेलते है वो दो दिन में उतर जाता है,,,प्रभु के प्रेम रंग में गुरु वचनों के रंग में रंग जाएं जो जन्मो तक नही उतरेगा,,,,,,,,।


🌹सबकी अच्छाई देखेंगे तो हमारे अंदर अच्छाइयां आ जाएगी, बुराई देखेंगे तो वो बुराई हमारे अंदर आ जायेगी,,,,,इस लिए गुण ग्राहक दृष्टि रखें,,,,,।
🌹अगर कोई कहता है कि हम बेवकूफ है तो दुखी मत होना,,ये उनकी सोच है हम अपनी तरफ से अच्छे रहें,,,,,,,।


🌹जब अल्लाह को अपने जीवन की नैया का मल्लाह बना दिया,,फिर क्यों व्यर्थ चिंता करते हो?,,,,,
🌹अपने निश्चय को पहाड़ जैसा अडोल बनाएं,,,,,,।


🌹जैसे अंधकार का अस्तित्व नही,,,जब तक प्रकाश नही होता तब तक अंधकार प्रतीत नही होता,,,ऐसे ही जब तक अपने स्वरूप का ज्ञान नही होता तब तक अज्ञान लगता है,,,,,,,।
🌹ब्रह्मज्ञानी ना आता है ना जाता है वो तो ब्रह्म में स्थित होता ही है,,,,,,,।
🌹शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,।

जब हम कुछ बन जाते हैं तभी चोट खाते हैं और ahankar aa जाता है. मैं आत्मा हूं यह कोई सच्चाई नहीं कहता है. हमको बराबर अंदर से भगवान का नाम जपना चाहिए बाहर से दिखाना नहीं है. अपने अंदर ही मौजूद भगवान की पूजा करनी चाहिए.

जब तक हम अपने स्वरूप में नहीं आयेंगे तब तक हमारा जीवन नहीं सुधर पाएगा. ग्यानी जीते जी घर में हरएक से अलग हो कर हमेशा रहता है. गुरु के पास मुर्दा होकर आओ, किसी से भी कुछ कनेक्शन मत रखो.


🌷 हम लोग घरवालों से मोह बहुत रखते हैं, लेकिन गुरू हमको सबसे आसक्ति हटाने के लिए कहता है. हमको बच्चों की प्रगति के लिए उनसे मोह हटाकर उनको पढ़ने के लिए बाहर दूसरे शहर भेजना पड़ता है और घर में फिर माँ बाप को अपना दिल कड़ा करना पड़ता है.

तभी बेटे की तरक्की होगी और अच्छी तरह से धन कमाएगा. दुनिया में हरएक व्यक्ति स्वार्थ से प्यार करता है. इंसान ही बहुत मतलब से कार्य करता है जबकि कोई जानवर अपने मालिक को धोखा कभी नहीं देता है.


🌷 ग्यानी कभी भी किसी को धोखा नहीं देता है. वो हमेशा सबसे प्यार ही करता है. इस ग्यान का कोई तोड़ नहीं है, हर तरह से हमको सबसे अच्छा व्यवहार ही करना चाहिए. दूसरा भले ही गलत तरीके से पेश आता है फिर भी हमको उससे प्यार करना चाहिए. क्योंकि हर आदमी हम से प्यार क्यों करता है क्योकि वो हमसे मिलने वाले सुखों से प्यार करते हैं हमसे प्यार नहीं करते हैं 🌷 🎤🎼bhajan 🎼🎤


प्रेम हमारी साधना है, प्रेम ही हमारा पंथ है, जो भरा है प्रेम से, वही सच्चा संत है 🌷 🌷 🎼🎼🎤🎤🍦🍦💘💘

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap