Guru vaani 20 Sept 2019

Guru vaani 20 Sept 2019

गुरु जी ने बताया कि,,,,,,,,,

🌾अज्ञानी सोचता है ये काम मैने किया ,मैं ना करू तो हो भी ना ,जब कि ज्ञानी सोचता है कि मैं कुछ नही करता गुण , गुणों में वरत रहे है,,,,,,,,,,,।

🌾बूंद और सागर एक ही है,बूंद सागर से आई सागर में समाएगी ,,,ऐसे ही हम भी प्रभु से आये है,प्रभु में समाना है,,,,,,,,।

🌾जब एक बार दाना पक जाता है ,फिर उसको जमीन में नही उगा सकते ,ऐसे ही हम जब प्रभु के हो जाएंगे तो माया हमे परेशान नही कर सकती,,,,,,,,,।

🌾कर्म करें बिना हम रह नही सकते,कर्म कर्म करें लेकिन अकर्ता बनकर ,अकर्ता बनकर किया हुआ कर्म निष्काम कर्म बन जाता है,,,,,,,,।

🌾कर्म योगी हर कर्म निष्काम भाव से करता है,,,,,,,,,।

🌾सन्यासी घर से भागकर ध्यान लगाता है,,,,यहां गुरु ने गृहस्थ में बैठकर ध्यान लगाना सिखाया,,,,,,,,,,।

🌾ध्यान भी कौनसा ?,यही की मेरा ध्यान कहीं जाएं ना,,,,,,,,,,।

🌾मन को माया से बचाएंगे तो प्रभु में लगाना नही पड़ेगा,,,,,अपने आप लग जायेगा,,,,,,,,,,,।

🌾शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,,,।

Guru vaani 20 Sept 2019

Guru ji ne btaya ki,,,,,,,,,

🌾Agyani sochta hai ye kaam maine kiya,mai na karu tto ho bhi na,Jab ki Gyaani sochta hai ki mai kuch nahi karta Gun ,Guno me varat rahe hai,,,,,,,,,,,,

🌾Bund aur Sagar ek hi hai,,,bund Sagar se aai Sagar me samayegi ,,,,,,aise hi hum bhi Prabhu se aaye hai,Prabhu me samana hai,,,,,,,,,,,,

🌾Jab ek baar dana pak jata hai,phir usko jameen me nahi uga sakte,aise hi hum jab prabhu ke ho jayenge tto maya hume pareshan nahi kar sakti ,,,,,,,,,

🌾Karm kare bina hum rah nahi sakte,,karm karen lekin akarta bankar kiya hua karm nishkaam karm ban jata hai,,,,,,,,,

🌾Karm yogi har karm niskaam bhaav se karta hai,,,,,,,,,

🌾Sanyasi ghar se bhagkar dhyaan lagata hai,Yahan Guru ne grihasth me bithakar dhyaan lagana sikhaya,,,,,,,,,,

🌾Dhyaan bhi kaunsa? Yahi ki mera dhyaan kahin jayen na,,,,,,,,,,

🌾Mann ko Maya se badhayenge,tto Prabhu me lagana nahi padega apne aap lag jayega,,,,,,,,,,,

🌾Shukrane Satguru ji ke Hari om,,,,,,,,

246 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap