Guru vaani 23 April 2019

Guru vaani 23 April 2019

गुरू जी ने बताया कि 🌻हर स्कूल जा उ यूनिफॉर्म होता है सत्संग का भी यूनिफॉर्म है,,,”शुकराना और मुस्कुराना” मतलब हर बात का शुकराना करते रहें और हर पल मुस्कुराते रहें,,,,,,,।


🌻वाणी हमारे कान बाद में सुनते है पहले हमारी श्रद्धा सुनती है,,,,श्रद्धा से सुना हुआ एक भी वचन ऐसे अनमोल होता है जैसे सिप में मोती,,,,,,,,।


🌻तेज हवा चलती है तो बड़े बड़े पेड़ गिर जाते है,,,,लेकिन घास कभी नही गिरती हल्के से निचे झुक जाती है,फिर हल्के से वापस ऊपर हो जाती है,,ज्ञानी भी ऐसे ही होते है,कोई भी विकट

परिस्थिति आएं तो एक जगह शांत और स्थिर होकर बैठ जाते है,,,फिर वापस अपनी स्थिति में आ जाते हैं,,,,,।


🌻आम पेड़ से जुड़कर ही रसीला रह सकता है ऐसे गई हम भी संसार मे रहकर ही सहज समाधि ले सकते है,,,,,,,।

 dada shyam bhagwan


🌻अर्जुन ना बन पाए तो कोई बात नही कम से कम संजय बन जाये,,,मतलब ज्ञानी न बन पाए तो परेशान मत होना हरि चर्चा गुरु चर्चा करते रहना,,,,,।


🌻कृष्णा भगवान कहते है कि किसी एक से भी मन मुटाव होगा तो प्रभु पाने के रुकावट क्योंकि हर एक व्यक्ति,,, वस्तु में मैं ही हु,,,,,,,।


🌻लव ऑल अलाइक सर्व को एक समान प्रेम करें,,,,,,,।
🌻कोई उल्टा चलता है तो दुखी न हो वो हमारी उन्नति में सहायक होते है,,,,उनका धन्यवाद माने,,,,,,,,।


🌻शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,।

हमे कई बार सतगुरु के साथ का अहसास भी तभी होता है जब बाकि सभी सहारे साथ छोड़ जाते हैं,,,,,,और सतगुरु साथ खड़ा होता है,,,,यानि कच्ची दीवारें जब तक गिरती नही तब तक हमको पक्की दीवार की पहचान करने का मौका भी नही मिल पाता,,,, इसलिए हालात भले ही कैसे भी तकलीफ भरे हों ,,,आप सतगुरु पर ये भरोसा रखो कि सतगुरु हमारा साथ कभी नही छोड़ेंगे ,,,,और जिसका साथ सतगुरु देते हैं ,,,उसका कोई कुछ बिगाड़ भी नहीं पाता,,,,

674 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap