Guru vaani 23 May 2019

Guru vaani 23 May 2019

Guru vaani 23 May 2019 : गुरु जी ने बताया कि,,,,,,,,

🍁कोई भी सब्जी बनाते है पहले उनके छिलके उतारते है,तभी पकाते है,ऐसे ही खुद में

प्रभु की शक्ति का अनुभव करना है तो देहाध्यास का छिलका उतारना होगा,वो सिर्फ गुरु ज्ञान से उतरता है,,,,,,।

divine meera bhagwan
divine meera bhagwan

🍁माता रानी का जागरण करते है अच्छी बात है,अब खुद के अंदर भी दैवीय शक्ति को जगाना है,,,,,,,,।

🍁बीमार,होने पर डॉ, पास जाते है,डॉ, दवाई देकर फ्री हो जाता है,ऐसे ही हमे भी कोई भी परिस्थिति आये मन को ज्ञान का वचन देकर फ्री होकर बैठ जाओ,,,,,,,,।

🍁जैसे सड़क पर किचड़ होने पर सम्भल कर चलते है ना,ऐसे ही मन को भी कीचड़ वाली बातों से बचाते चले,,,,,,,,।

🍁जहां प्रभु ने हमको रखा है वहीं रहकर अपनी प्रारब्ध को भोगो,,,,,,,,,।

🍁सत्संग में कर्म भी कट ते है और कस्ट भी मीट ते है,,,,,,,,,।

🍁गधा वो नही जो गधा है,गधा वो है जो हर बात में गलत धारणा बनाता रहता है,,,,,,,,।

🍁सबके “हमदर्द” बन ना है,,,,,”सरदर्द” नही बन ना ,,,है,,,,,,,,।

🍁शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,।

Guru vaani 23 May 2019 :

🌹हर बात में धीरज रखें ,बड़ी चीज चाहिए तो बड़ा धीरज चाहिए, झोपड़ी दो दिन में बन जाती है,लेकिन महल बन ने में समय लगता है,,,,,,।

🌹हमारे सुख का आधार पदार्थ नही ,, बल्कि परमात्मा होना चाहिए,,,,,,,,,।

🌹जिस वक्त किसी की गलतियां दिखने लगे समझो अज्ञान आने लगा मन मे वापस,,पर दोष देखना बन्द कर दे,,,,,,,।

🌹शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,।

🌹स्वार्थी को हर अच्छी बात में बुराई दिखती है,परमार्थी को हर बुरी बात में भी अच्छाई दिखती है,,,,,,,।
🌹प्रभु ने हजारों सुख दिए है,उन पर से दृष्टि हटाकर एक दुख दिया है मतलब एक वस्तु की कमी होती है उसे ही क्यों गाते रहते है,,,,,,,।

🌹माया की याद दुखदाई, गुरु की याद सुखदाई,,,,,,।

🌹हरि के नाम की ताकत से तिनका भी तर जाता है,,जैसे एक चींटी को अगर एक शहर से दूसरे शहर जाना हो वो अगर किसी के समान में बैठ जाये,तो आसानी से एक शहर से दूसरे शहर पहुंच सकती है,,,,,,,,।

🌹आशा हमे इंसान बनाती है,,,,,,,,।

536 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap