Guru vaani 24 MAY 2019

Guru vaani 24 May 2019

Guru vaani 24 May 2019:गुरु जी ने बताया कि,,,,,,,

🍃जैसे राज्य के आस पास कीला बना होता है कि दूसरा देश चढ़ाई न करें ऐसे अपने मन के आस पास सत्संग का दायरा बनाकर रखें, जिस से माया आकर परेशान ना करें,,,,,,,,,।


🍃हम विचारों से ही गिरते है और विचारों से ही उठते है,गुरु हमारे विचार शुद्ध करते है,,,,,,,।


🍃किसी और कि गलती की सजा खुद को कभी मत दो,मतलब कोई दूसरा क्रोध करे उसको देखकर अपना मन दुखी ना करें,अपने मन को शांत रखें,,,,,,,।


🍃मन जब व्यर्थ की बात में अटक जाए तो बोलो “पलट तेरा ध्यान किधर “है,,,,,,।


🍃संसार वाले जब शादी होती है तब मंगलसूत्र पहनते है,,ज्ञानी हर समय अपने गले मे सबके लिए मंगल कामना का सुत्र पहनता है,,,,,,।

meera bhagwan


🍃प्रभु ने 24 घंटे दिए है अब ज्ञान के बाद अपना टाइम टेबल बनाये,,,,,,,


24,
6,घंटे,,,नींद के लिए,,,
6,घंटे,,,संसार वालो के लिए,,,,
6,घंटे,,,घर का काम करने के लिए,,,बाकी बचे
6,घंटे,वो सत्संग के लिए प्रभु के लिए ,,,,हम 1,घंटा निकाले वो भी बहुत है,,,,,,,,।


🍃तन से न रह पाए तो मन से प्रभु की याद में रहें,,,,,,,।
🍃ये मत कहो कि ” भगवान भी चाहिए,,,,” बल्कि ये कहो कि ” भगवान ही चाहिए,”,,,,,,,।
🍃शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,।

343 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap