Guru vaani 24 Sept 2019

Guru vaani 24 Sept 2019

गुरु जी ने बताया कि,,,,,,,,,

🌸शरीर से भले संसार के रहें लेकिन अंदर से अपने भगवान से जुड़े रहें,,,,,,,,,,,।

🌸भगवान से सब कुछ चाहते है बस भगवान से भगवान को ही नहीं चाहते तभी चिंतिंत रहते है,,,,,,,,।

🌸तीन तरह के बीज बताए ,,,,,

1,🌸डिब्बी में पड़े पड़े घुन लग गया,,,,,,,,

2,🌸पीसकर पेट मे गया, पेट भर गया,,,,,,,

3,🌸जमीन में डाल दिया ,अंकुरित होकर पौधा ,फिर विशाल वृक्ष बनकर सबको सुख दे रहा,,,,,,,,।

🌸ऐसे ही हमारा भी जीवन है,,,,,,,

🌸1, ऐसे ही व्यर्थ जा रहा या,

🌸2, सिर्फ खुद के काम आना ,,,या,,

🌸3,सर्व के हित के लिए जीवन हो,,,,,,,,,,,

🌸खोया कहे सो , मस्करा,पाया कहे सो जूठ ,मतलब जो कहता है भगवान खो गए,वो मज़ाक कर रहा है,और जो कहे पाया वो जूठ,,मतलब भगवान तो है ही ,,,,,,,पाना थोड़ी है,,,,,,,,,,।

🌸लहरें सागर से आई सागर में समाती है,,ऐसे ही हम भी परमात्मा से आये है परमात्मा में जाना है,,,,,,,,,,।

🌸शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,,,।

Guru vaani 24 Sept 2019

Guru ji ne btaya ki

🌸Sharir se bhale sansaar me rahen lekin andar se apne bhagwan se jude

rahen,,,,,,,,,,,

🌸Bhagwan se sab kuch chahte hai bas bhagwan ko hi nahi chahte tabhi

chintit rahte hai,,,,,,,,,,,

🌸Teen tarah ke bijj bataye ,,,

1,🌸Dibbi me pade pade ghoon lag gaya,,,,,,,,

2,🌸Piskar pet me gaya,pet bhar gaya,,,,,,,,

3,🌸Jammen me daal diya,ankurit hokar paudha,phir vishal vriksh bankar sabko sukh de raha,,,,,,,

🌸Aise hi hamara bhi jeevan hai,,,,,,,

🌸1,Aise hi vyarth ja raha ya,,,,,,

🌸2,Sirf khud ke kaam aana,,,,,ya,,,

🌸3,Sarv ke hit ke liye jeevan ho,,,,,,,,

🌸Khoya kahe so,maskra,paya kahe so jooth,,,,,,matlab jo kahta hai bhagwan kho gaye,wo mazak kar raha hai,aur jo kahe paya wo jooth,,,,matlab bhagwan tto hai hi,,,,,,,pana thodi,,hai,,,,,,,,,,,

🌸Lahren sagar se aai Sagar me samati hai,,,,,,,aise hi hum bhi Parmatma se aaye hai Parmatma me jana hai,,,,,,,,,,,

🌸Shukrane Satguru ji Hari om,,,,,,,,,

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap