Guru vaani 29 May 2019

Guru vaani 29 May 2019

Guru ji ne btaya ki,,,,,,,, Guru vaani 29 May 2019

🌹Satviki boodhi wale jante hai ki unka hit kisme hai aur ahit kisme hai,,,,,Guru hamari boodhi satviki kar dete hai,,,,,,,,

🌹Gyani ko apne mann par ankush hota hai ki kya bolna hai kub bolna hai,,,,,,,,


🌹Na prasansha me phoolo na ninda me dukhi hona,ek moothi rakh ninda wale par,ek moothi prashansha karne walo ki baat par,,,,,,,,


🌹Bhagwan ko bolo prabhu jo bhi dukh dena chahte ho dedo,aakhir kaunsa dukh denge bhagwan,,,dhan,daulat,bimari,kisi se bichhadna ,,,

itna yaad rakhen ki dukh dene wala aur dukh sahne wala ek hi hai,,,,,,,,
🌹Nothing new under the sun,matlab suraj ki roshni ke niche kuch bhi

naya nahi,,,,,pahle kisi ke sath ho chuka hoga,hamare baad bhi kitno ke sath ho sakta hai,,,,,,,


🌹It seems right,which sees wrong,,,,,matlab kabhi kabhi jo dikhne me galat hota hai wo sahi bhi ho sakta hai,,,,,,,

🌹Love wins love,,,,matlab prem ko prem se hi jeeta ja sakta hai,,,nafrat se nahi,,,,,,,,

🌹Shukrane Satguru ji ke Hari om,,,,,,,,,

Guru vaani 29 may 2019

गुरु जी ने बताया कि,,,,,,,,

🌹सात्विकी बुद्धि वाले जानते है कि उनका हित किसमे है,अहित किसमे है,,,,गुरु हमारी बुद्धि सात्विकी कर देते है,,,,,,,,।


🌹ज्ञानी को अपने मन पर अंकुश होता है क्या बोलना है कब बोलना है,,,,,,,,।

🌹ना प्रशंसा में फूलो ना निंदा में दुखी होना ,एक मुट्ठी राख प्रशंसा करने वालो की बात पर एक मुट्ठी राख निंदा करने वाले कि बात पर,,,,,,,।


🌹भगवान को बोलो जो भी दुख देना चाहते हो देदो आखिर कौनसा दुख देंगे भगवान,धन,दौलत,बीमारी,किसी से बिछड़ना ,,,,इतना याद रखें कि दुख देने वाला और दुख सहने वाला एक ही है,,,,,,,,,।

🌹नथिंग न्यू अंडर ध सन,,,,मतलब सूरज की रोशनी के नीचे कुछ भी नया नही,पहले किसी के साथ हो चुका होगा,हमारे बाद भी कितनो के साथ हो सकता है,,,,,,,,,।

🌹इट सिम्स बी राइट,व्हिच सीस रॉंग,,,,,,,,मतलब कभी कभी जो दिखने में गलत होता हैओ,वो सही भी हो सकता है,,,,,,,

🌹लव विंस लव,,,,मतलब प्रेम को प्रेम से ही जीता जा सकता है,,,,,,नफरत से नही,,,,,,,,।

🌹शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,।

156 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap