Guru vaani 30 April 2019

🌷ईश्वर की इच्छा ये है कि हम अपने स्वरूप में आ जाएं,,,अपनी आत्मिक स्थिति में रहें,,,,,,,,,।


🌷शेरनी का दुध जैसे सोने के पात्र में लिया जाता है,ऐसे ही ये ब्रह्मज्ञान शुद्ध पवित्र मन मे ही टिक पाता है,,,,,,,,।


🌷निर्भय होवे भजो भगवान ,,निर्भय वी ही होता है जो निरवैर होता है,जिसका किसी के साथ वैर न हो,,,,,,,,।


🌷अकाल मूरत काल भी जिसका कुछ बिगाड़ नही सकता,,,,,,,।

divine guru ji


🌷अजूनी ,,,जिसकी दूसरी कोई जून नही हो पाती ,,वो प्रभु में स्थित हो जाता है,,,,,,,।


🌷कोई कुछ भी बोले हम अपने मन की शांति बरकरार रखें,,,,,,,।


🌷भगवान को हमसे कोई फल फूल नही चाहिए,,,, भगवान को हमारा जीवन फूलो की तरह खिला हुआ चाहिए,,,,,,,।


🌷शुकराना वो ही मान सकता है,जिसको किसी से कुछ नही चाहिए,,,,,,,,,।

इलाइची के आयुर्वेदिक फायदे क्या हैं ?


🌷कोई भी हमारी सेवा करता है,उनकी तरफ का कृतिज्ञता का बोझ हम उनका शुकराना मानकर हल्का कर सकते है,,,,,,,।


🌷शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,,।

🌹संसार के कर्मो का फल तो जब मिलेगा तब मिलेगा,,,,,लेकिन निष्काम का फल ऐसा है जो प्रत्यक्ष मिलता है,मतलब तुरंत मिलता है,,,,,,,,,।


🌹बगीचे में लिखा होता है कि बगीचे में घूमो जरूर लेकिन फूल मत तोड़ो,,,,ऐसे ही संसार मे रहो लेकिन अटको नही,,,,,,,,,।

dada bhagwan notes


🌹गुरु हमारी माया से पकड़ छुड़ाने आते है,और प्रभु से जोड़ने आते है,,,,,,,,,।


🌹किसी की भी बात में इंटरफियर करेंगे तो “फियर ही फियर” मिलेगा,,,,मतलब डरते रहेंगे,,,,,,,,।

आंखों की रोशनी कैसे बढ़ाएं?


🌹अपनी पवित्र और शुद्व शक्तियों को बांधो तभी तो बनोगे साधो,,,,मतलब साधु,,,,,,,।


🌹सारा दिन बोलते र बारे में तो मुर्गियां रहती है,,,,,,,,।


🌹स्टोर रूम को ड्राइंग रूम में बदल दो,ऐसे ही अपने मन को शुद्ध पवित्र रखेंगे तभी तो प्रभु विराजेंगे,,,,,,,,,।


🌹साधु संगत हमारा सुरक्षा चक्र है,,,,,अपना दायरा साफ सुथरा रखें,,,,,,,,,।


🌹शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,।

284 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap