Guru vaani 4 August 2019

Happy Friendship Day

गुरु जी ने बताया कि,,,,,,,,

🥀अभी भी संसार सच लग रहा है या सपना,,,और अगर सच लग रहा है तो अभी भी अभ्यास की जरूरत है,,,,,,,,।

🥀किस बात का अहंकार करते है,,,राम गए ,,रावण गए,कौन हमेशां के लिए रुका है जो हम रुकेंगे,,,,,,,,,।

🥀जैसे ही नींद से जागो परमात्मा का शुकराना करो,,प्रभु तेरी कृपा से आज भी जिंदा हु,,,,आज का दिन देख पा रहा हु,,,,,,,,,।

🥀संसार का सुख पल भर का परमात्मा का सुख जीवन भर का होता है,,,,,,,।

🥀एक मधुमखी शहद में घुसकर शहद खाकर उसी में अपनी जान दे देती है,,,एक समझदार मधुमक्खि किनारे से शहद खाकर उड़ जाती है,अपने जीवन का आनंद लेती है,ऐसे ही गुरु जी कहते है कि माया में संसार मे भी गहराई में मत जाओ,,,,,किनारे पर रहकर अपना जीवन व्यापन करें,,,,,,,,,।

🥀जैसे सुनार की दुकान से हीरा लेकर आते है तो मौन में सीधे घर आकर अलमारी में रखते है ना,,,,,,ऐसे ही गुरु जी कहते है कि सत्संग से लौट ते समय मौन रहें क्योंकि वचन रूपी हीरे लेकर आते है,,,,,,,,।

🥀घर से बाहर जाते है तो अपनी रसोई अपने साथ थोड़ी ले जाते है,अपने साथ भोजन बनाने का हुनर लेकर जाते है,,,ना,,,ऐसे ही जहां भी जाये अपना आनंद,अपनी शांति,अपना प्रेम वाला स्वभाव का हुनर साथ ले जाओ,,,,,,,,।

🥀जो प्रभु की शरण मे होता है वो मुक्त जरूर होता है,,,,,,,,।

🥀शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,।

Guru vaani 4 August 2019

🥀Abhi bhi sansaar sach lag raha hai ya sapna,,,,,,,,aur agar sach lag raha hai tto aur abhyaas ki jarurat hai,,,,,,,,,

🥀Kis baat ka ahankar karte hai,,,,Raam gaye ,,,Rawan gaye,,,,,kaun hamesha ke liye ruka hai,,,,,,jo hum rukenge,,,,,,,,

🥀Jaise hi nind se jago Parmatma ka shukarana karo,,,,Prabhu teri kripa se aaj bhi jinda hu,,,,aaj ka din dekh pa raha hu,,,,,,,

🥀Sansaar ka sukh pal bhar ka,,,,,Parmatma ka sukh jeevan bhar ka hota hai,,,,,,,,

🥀Ek madhumakkhi sahad me ghuskar sahad khakar usi me apni jaan de deti hai,,,,,,ek samajhdaar madhumakkhi keenare se sahad khakar ood jati hai apne jeevan ka aanand leti hai,,,,,aise hi Guru ji kahte hai ki Maya me,,,, Sansaar me bhi gahrai me mat jao,,,,,keenare par rahkar apna jeevan vyapan karen,,,,,,,,

🥀Jaise Sunar ki dukaan se Heera ,,,aur gahne lekar aate hai tto maun me sidhe ghar aakar almari me rakhte hai na,,,,,aise hi Guru ji kahte hai ki Satsang se laut te samay maun rahen kyuki wachan roopi Heere lekar aate hai,,,,,,,,,

🥀Ghar se bahar jate ho tto apni Rasoi apne sath thodi le jate hai apne sath bhojan banane ka hunar lekar jate hai,,,na,,,,aise hi jahan bhi jaye apna aanand apni shanti,,,,apna prem wala swabhav ka hunar sath le jao,,,,,,,

🥀Jo Prabhu ki sharan me hota hai wo mukt jarur hota hai,,,,,,,

🥀Shukrane Satguru ji ke Hari om,,,,,,,,

170 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap