Guru vaani 5 June 2019

Guru vaani 5 June 2019

eid mubarak

Guru vaani 5 June 2019 : – Guru ji ne btaya ki

🌹Jinda aadmi ki ninda hoti hai,,,mare huye ki ninda nahi hoti,,,yahan Guru

“mai” se marne ko kahte hai,,,,mai se mar jayenge tto kisi ki bhi baat buri

nahi lagegi,,,,,,,

🌹Bahar kisi se judo,ya na judo,,,,,apni antar aatma se jarur jud jao,,,,,,,,,,

🌹Budhwar ka vrat karo ya na karo,apni budhhi ko namr jarur

karlo,,,,,,Guru waar ka vrat karo ya na karo,,,,,apne Guru ki prasanta ka vrat

jarur rakhen,,,,,,,,

🌹Santoshi maa ka vrat karen ya na karen jeevan me santosh jarur

layen,,,,,,,,,

🌹It is natural some reject us,some receive us,but God always accept

us,,,,,matlab koi hume pasand karega koi naraj hoga,,Prabhu hamesha

hume prem karte rahte hai,,,,,,,,,

🌹Jab tak saraswati ji ki respect nahi karenge lakshmi ji prassan nahi

hogi,,,,,,saraswati matlab jeevan me saralta,,,,sahajta,sugamata,aana,,,,,,,

🌹Jaise college,office me jab promotion milta hai,,,sab bade bade logi se

milna hota hai,,,aise hi Gyaan me bhi jab krodh me ninda apmaan me sum

rahna aa jata hai tto prakriti hume Prabhu se milati hai,,,,,,,,

🌹Shukrane satguru ji ke Hari om,

गुरु जी ने बताया कि

🌹जिबद आदमी की निंदा होती है,,,मरे हुए की निंदा नही होती,,, यहाँ गुरु ” मैं ” से मरने को कहते है,,मैं से मर जायेंगे तो किसी की भी बात बुरी नही लगेगी,,,,,,,,।

🌹बाहर किसी से जुडो या ना जुडो अपनी अंतरात्मा से जरूर जुड़ जाओ,,,,,,,,।

🌹बुधवार के व्रत करो या न करो,अपनी बुद्धि को नम्र जरूर करलो,, गुरु वार का व्रत करो या न करो,,,, अपने गुरु की प्रसन्ता का व्रत जरूर रखें ,,,,,,,,।

भूख बढ़ाने के उपाय


🌹संतोषी माता का व्रत करें या न करें अपने जीवन मे संतोष जरूर लाएं,,,,,,,,।


🌹इट इस नेचुरल सम रिजेक्ट अस सम रिसीव अस,,मतलब कोई हमे पसंद करेगा,कोई नाराज होगा,,प्रभु हमेंशा हमे प्रेम करते रहते है,,,,,,,।

🌹जब तक सरस्वती जी की रिस्पेक्ट नही करेंगे लक्ष्मी जी प्रसन्न नही होगी,,सरस्वती मतलब जीवन मे सरलता,सहजता सुगमता आना,,,,,,,।


🌹जैसे कॉलेज में ऑफिस में जब प्रोमोशन मिलता है,सब बड़े बड़े लोगो से मिलना होता है,ऐसे ही ज्ञान में भी क्रोध में निंदा में अपमान में सम रहना आ जाता है,,,तो प्रकृति हमे प्रभु से मिलाती है,,,,,,,,।


🌹शुक्राने सतगुरु जी के हरि ॐ,,,,,,,,,।

445 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap