guru vaani 9 march

Guru vaani 9 March 2019

यह दुनिया सब नाटक है और आना जाना लगा रहता है इसमे परेशान नहीं होना चाहिए, ऐसा भी होता है, लेकिन हमको हर बात के लिए तैयार रहना चाहिए. इस राह में बाधा तो आएँगी ही, कभी पीछे नहीं हटना चाहिए, परीक्षाएं तो आएँगी ही और उसमें भी सफल हो कर दिखाना होगा. जो भी करना है उसे आज ही कर लो कल का क्या भरोसा है.


🌷 हमको भी यहाँ आने पर जलन, नफरत, ईर्ष्या, द्वेष, बदले की भावना, क्रोध सब हटाना चाहिए नहीं तो आने से क्या फायदा होगा. हमको किसी से भी कुछ इच्छा नहीं रखना चाहिए. वाणी को वीणा बनाएँ, baan नहीं बनाना चाहिए, मधुर शब्द का प्रयोग करना चाहिए तभी दूसरा भी हमसे प्यार से बात करेगा.

गुरु की कृपा हमेशा ही हो रही है, लेकिन हमको अपनी कृपा खुद करनी चाहिए. हर समय हमको शरीर का और भगवान का शुक्रिया अदा करना चाहिए कि इतना सालिम शरीर मिला है और इसमें भगवान का सुमिरन karle तो जीवन सुधर जाएगा.


🌷 आत्मा को सुधारने के लिए हमें रोज़ Guru की मेहनत कर रहे हैं और हमारा फर्ज है कि इस कृपा का फायदा उठाकर अपना जीवन बना लें. नहीं तो फिर ऐसा मौका sachha सतगुरु फिर जिन्दगी में दुबारा नहीं मिलेगा. और फिर भी अपना जीवन बना लें. कोई भी साथ नहीं देगा केवल भगवान ही सच्चा साथी है.

mona didi


🌷 हमको कर्म तो करना ही है लेकिन आसक्ति नहीं रखनी चाहिए और फल की इच्छा भी नहीं रखना चाहिए. Gyani को सबसे प्यार करना है. चाहे कोई भी गलत व्यवहार करे हमको सबसे प्रेम करते रहना चाहिए.
Gyani हमेशा उचित समय पर सही कार्य करता है. बहादुर वो है जो कि गलत कार्य को नहीं करता है, He is a brave man, who can say no. 💘


💝 जब हमारे मन में कोई बात आती है तभी हम कोई गलती कर देते हैं. गुरु सबसे निस्वार्थ भाव से प्यार करता है और इसी तरह से हमको भी हरएक से बराबर प्यार करना चाहिए.

Gyani कभी भी किसी के बंधन में नहीं आता है और किसी के कहने पर नहीं आता है. गुरु से हर बात के लिए युक्ति पूछने पर हमारा उद्धार होगा यदि नहीं मानेंगे तो नुकसान हो जाएगा. किसी से भी मोह और आसक्ति नहीं रखनी चाहिए.


🌷 इस मोह और आसक्ति से दूर रहने का एक ही रास्ता है कि रोज़ सत्संग जाना चाहिए और गुरु वाणी का मनन करेंगे तो आपको मोह और आसक्ति अपने आप हट जायेगी. जब गुरु ने हमको सभी दोषों सहित अपनाया है तो हमको भी किसी व्यक्ति को उसके सभी गुण दोष के सहित अपनाना होगा तभी वो भी धीरे धीरे ठीक हो जाएगा. इसलिए भगवान के सुमिरन में लगे रहना चाहिए, तभी हमारा उद्धार होगा.


🌷 🎤🎼BHAJAN 🎤🎼


है प्रीत जहाँ की रीत सदा, मै गीत वहाँ के गाता हूँ, यह Dada की फुलवारी है मैं सबको शीश नवाता हूं 🎤 🎤 🎤 🌹🌹💘💘

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap