सबका भला करते चलो, भले कोई हमारा भला करें ना करें

सबका भला करते चलो, भले कोई हमारा भला करें ना करें

गुरु जी ने बताया कि

🍁अगर हसी नही आ रही तो भी कोशिश करें हसने की ।

🍁सुबह सुबह खुद को भाव दो की रात सुख की बीती दिन भी बहुत अच्छा बीतेगा ।

🍁जैसे खाली सड़क पर गाड़ी कितनी तेज तेज चलती है, भीड़ में धीरे धीरे चलती है ,,

ऐसे ही मन जब खाली होता है तो तेज तेज भागता है,,,,अपने दिमाक को खाली मत छोड़ो , किसी को प्यार करने चले जाओ, किसी की सेवा करने लग जाओ,,,,खाली मत बैठो ।

🍁सबका भला करते चलो, भले कोई हमारा भला करें ना करें ।

🍁अहंकार सारे कर्मो की जड़ है , उस से छूटना है ।

🍁विकार तो हमारे भीतर पहले ही से होते है, बस परिस्थिति से प्रभावित होते रहते है ।

🍁हमारा होना पना ही अहंकार है, मुर्दे को कुछ नही लगता ।

🍁ज्ञानी विकार को हथियार की तरह इस्तेमाल करता है ।

🍁शुक्राने सतगुरु जी के , हरि ॐ।

306 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap